UP News Hindi News: लू तापघात के लक्षण और प्राथमिक उपचार एवं बचाव


लू तापघात विमारी बहुत ही अक्रामक पैर पसार रही हैं, इसका इलाज मुख्यत: बचाव है।
आइए जानते है इसके लक्षण और बेसिक बचाव





लू तापघात के लक्षण:-

(1) शरीर के तापमान बढ़ना और पसीना आना।

(2) सिरदर्द होना या सिर का भारीपन महसूस होनो।

(3) त्वाचा का सूखा एवं लाल हानेा ।

(4) उल्टी होना बेहोश होना।

(5) मांसपेशियों में ऐठन।

लू तापघात का प्राथमिक उपचार:-

(1) व्यक्ति को ठंडे एवं छायादार स्थान पर ले जाएं।

(2) एंबुलेंस करे फोन करे और नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पहुचाएं।

(3) अगर व्यक्ति बेहोस न हो तो ठंडा पानी पिलाएं।

(4) माथे पर गिले कपड़े का सपंज रखे।

(5) पंखे से शरीर को हवा दें व पानी से स्प्रे करें।

(6) व्यक्ति को पैर उपर रखकर सुला दे।

लू तापधात से बचाव:-


(1) चाय काफी शराब कार्बोनेटेड साप्ट ड्रिंक के सेवन से बचें।

(2) धूप के चश्में] छाता] टोपी व चप्पल का प्रयोग करे।

(3) अधिक परिश्रम के मध्य विश्रााम आवश्य करें।

(4) प्यास की इच्छा न होने पर भी पानी पीएं।

(5) जरूरी न हो तो अधिक धूप में बाहर न जाएं।

(6) ठंडक प्रदान करने वाले फल खाए।

(7) हल्के सफेद रंग के और ढीले कपड़े पहने।

(8) अधिक गर्मी में व्यायाम न करें।

(9) बच्चो व बुजुर्ग का विशेष ख्याल रखें।

(10) शरीर अधिक गर्म लगने पर स्नान करें।

(11) गर्भस्थ महिला कर्मियों तथा रोग ग्रस्त कर्मियों पर  अतिरिक्त घ्यान देना चाहिए।

(12) दोपहर 12 से 03 बजे के मघ्य सूर्य की रोशनी में जाने से बचे।

(13) अपने धरो को ठण्डा रखें] पर्दे दरवाजे आदि का उपयोग करे।

(14) शाम के समय घर तथा कमरों को ठण्डा करने हेतु इसे खोल दे।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 



सन्देश दुनिया आपका अपना न्यूज पोर्टल है. हम तक ख़बरें पहुंचाएं sandeshdunia@gmail.com (Whatsapp @ 7272 8181 36) के माध्यम से

Post a Comment

Previous Post Next Post