Maharashra Politics News:अजित पवार गुट के सरकार में शामिल होने से निर्दलीय विधायक असंतुष्ट


ठाकरे सरकार में मंत्री रहे निर्दलीय विधायक बच्चू कड़ू के नेतृत्व वाले विधायको ने  कहा कि एनसीपी अजित पवार गुट को शिंदे सरकार में शामिल होने से नराज हैं । विधायको ने मंत्री पद के दावा से मोह छोड़ दिया।



 महाराष्ट्रª न्यूज।। राज्य के मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम से क्षुब्ध होकर  लगभग 10 निर्दलीय विधायको के समूह ने मुख्यमंत्री शिंदे से मंत्री पद के दावा छोड़ने का निर्णय लिया हैं।

प्रहार जनशक्ति पार्टी के प्रमुख और पूर्व म़ंत्री ओमप्रकाश बीउ र्फ बच्चू कडू के नेतृत्व  वाले निर्दलीयों ने कहा कि कैबिनेट पदों के लिए चल रही मांग से हतोत्साहित हैं। खासकर  डिप्टी सीएम अजित पवार के एनसीपी को शामिल होने से।

कडू ने घोषणा की हमने फैसला किया हैं कि हम कैबिनेट पद के लिए जोर नही देगे, हम सीएम को परेशान नही करना चाहते। हम अपना दावा छोड़ने पर विचार कर रहे हैं । सीएम ने 17 जुलाई को निर्दलीय विधायको की एक बैठक बुलाया हैं। उसके अगले दिन अपनी योजनाओ घोषणा करेगे।

उन्होने पूर्व मुख्यमत्री उद्वव ठाकरे के नेतृंत्व वाली महा विकस अघाड़ी  सरकार के प्रति अभार व्यक्त करते हुए कहा कि   हमें कैबिनेट में प्रतिनिधित्व देने के आश्वासन पर हम शामिल हुए थें। उन्होने ने अपना वादा निभाया और मुझे मंत्री बनाया।

हलाकि अचल के विधायक ने कहा एमवीए विकलागत कल्याण के लिए अलग मंत्रालय बनाने में विफल रहे। लेकिन शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार ने मंत्रालय बनाया।

बच्चू काड़ू ने कहा अगर एमवीए सरकार निर्णय लिया होता तो हम 2022 में छोड़कर शिंदे गुट में शामिल नही हुए होते। महाराष्ट्रª ªªदेश का पहला राज्य होगा । जहां विकलांग के लिए अलग से मंत्रालय हैं। हम इस निर्णय से शिंदे सरकार के अभारी हैं। आगे यह भी कहा कि राज्य में बदले घटनाक्रम से कई नेता किनारे किये जाने के परेशान हैं।

बच्चू काड़ू की टिप्पणी ऐसे समय आई, जब शिंदे कैबिनेट विस्तार से जूझ रहे हैं।




सन्देश दुनिया आपका अपना न्यूज पोर्टल है. हम तक ख़बरें पहुंचाएं sandeshdunia@gmail.com (Whatsapp @ 7272 8181 36के माध्यम से

Post a Comment

Previous Post Next Post