Katni News:नए अधिवक्ता नही कर सकते वकालत -स्टेट बार काउंसिल

कटनी। मध्यप्रदेश राज्य अधिवक्ता परिषद शिकायत निवारण समिति की जिला प्रतिनिधि एडवोकेट अंजुला सरावगी बजाज ने बताया  कि  स्टेट बार कॉउन्सिल ऑफ मध्यप्रदेश की एक प्रसाशनिक बैठक प्रसाशनिक समिति के अध्यक्ष राधेलाल गुप्ता, सदस्य व राज्य अधिवक्ता परिषद के उपाध्यक्ष आर के सिंह सैनी, स्टेट बार की कार्यकारी सचिव गीता शुक्ल, सदस्य जग्गनाथ त्रिपाठी, राजेश पांडेय व जितेंद्र कुमार शर्मा की मौजूदगी में स्टेट बार के उपाध्यक्ष आर के सिंह सैनी ने साफ शब्दो मे बताया कि नए अधिवक्ताओ की नामांकन के उपरांत जो प्राविधिक प्रमाण पत्र प्रदान किये जाते है, उनकी वैधता मात्र 2 वर्ष की होती है और इन दो वर्षों के अंदर नए अधिवक्ताओ को अखिल भारतीय बार परीक्षा उत्तरीण करना अनिवार्य होता है। जिन भी छात्र व छात्राओं ने स्टेट नामांकन के बाद 2 वर्ष के अंदर बार कौंसिल द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षा को नही दिया तो उसके उपरांत वो वकालत नही कर सकते। स्टेट बार के उपाध्यक्ष श्री आर के सिंह सैनी जी ने नवोदित नामांकित अधिवक्ताओ से अपील की है कि राज्य से प्रमाण पत्र लेने के उपरांत हर हाल में वो समय अवधि में बार कॉउन्सिल द्वारा आयोजित परीक्षा को उत्तरीण कर अपना भविष्य उज्ज्वल बनाये।

Post a Comment

Previous Post Next Post