Kstni News: सीईओ श्री गेमावत ने रैपुरा स्थित विद्यालय का किया आकस्मिक निरीक्षण

सीईओ ने गत वर्ष के परीक्षा परिणामों को लेकर जताई नाराजगी, शैक्षणिक गुणवत्ता  सुधार के दिए निर्देश
कटनी (अनिरुद्ध बजाज 23 अगस्त)- यह अध्यनरत बच्चे इस देश के भविष्य हैं, इन नौनिहालों को बेहतर शिक्षा प्रदान कर अनुकूल शैक्षणिक वातावरण निर्मित करना शिक्षकों का दायित्व है। उपलब्ध संसाधनों का बेहतर उपयोग करते हुए इनके बेहतर और सुनहरे भविष्य को गढ़ने के लिए आप सभी को और अधिक परिश्रम करने की आवश्यकता है। यह बातें जिला पंचायत के सीईओ शिशिर गेमावत ने  बुधवार को  जनपद पंचायत रीठी के अंतर्गत विद्यार्थी उच्चतर माध्यमिक शाला  रैपुरा के शिक्षकों और विद्यार्थियों विद्यार्थियों से संवाद कर कहीं। इस दौरान सीईओ ने शिक्षकों और छात्र-छात्राओं से संवाद करते हुए विद्यालय में कक्षाओं और अध्ययन रत छात्रों की दर्ज संख्या एवं उपस्थिति के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। सीईओ श्री गेमावत ने शैक्षणिक स्तर में गुणवत्ता सुधार के लिए आवश्यक सार्थक प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पढ़ाई में कमजोर चिन्हित विद्यार्थियों को अलग से समय देकर अध्ययन कराएं और उन्हें भी निपुणता की ओर अग्रसर कराएं।

*किरण,अनामिका और रेशू से पूछे सवाल*

जिला पंचायत के सीईओ शिशिर गेमावत ने विद्यार्थी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की कक्षा दसवीं की छात्राओं किरण बैरागी,अनामिका विश्वकर्मा, रेशु रैदास से शिक्षा,संस्कृति और विज्ञान से संबंधित सवाल पूछे। छात्राओं से कराए जा शिक्षण कार्य के संबंध में भी जानकारी ली।

*गत वर्ष के परिणामों को लेकर जताई नाराजगी, बच्चों को दिए टिप्स*

सीईओ ने शिक्षकों से गत वर्ष के परीक्षा परिणाम की जानकारी संतोष जनक प्राप्त नहीं होने पर बेहद नाराजगी जताई और शिक्षकों को निर्देश दिए की शाला के बच्चों की पढ़ाई में गुणवत्ता सुधार हेतु निर्धारित समय पर उपस्थित होकर छात्र-छात्राओं को निर्धारित विषयों में निपुण बनाएं। सीईओ ने छात्राओं को बेहतर पढ़ाई कर अच्छे परिणाम लाने  हेतु टिप्स भी दिए।

*आंवला और मुनगा के 2600 पौधे रोपित होंगे*

इस दौरान सीईओ श्री गेमावत ने पर्यावरण संरक्षण और प्राकृतिक सौंदर्य की दृष्टि से प्रतीकात्मक रूप से पौधे रोपित किये तथा अध्यनरत छात्राओं से पौधारोपण के महत्व और धरा को हरा भरा रखने की आवश्यकता के संबंध में अवगत कराया। सीईओ ने आंवला, मुनगा और विविध प्रजातियों के रोपित किये जा रहे 2600 पौधों की देखभाल और सुरक्षा किए जाने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए। संवाद के दौरान छात्रों ने वृहद वृक्षारोपण के  उपरांत होने लाभों शुद्ध ऑक्सीजन प्राणवायू , राहगीरों को छांव और और इमरती और जलाऊ लकड़ी की उपलब्धता होना बताया। इस दौरान  सरपंच , उप सरपंच, प्रभारी प्राचार्य, सहायक यंत्री मनोज कौशल, एपीओ भागीरथ पटेल, उपयंत्री और ग्रामीण जनों की उपस्थिति रही।

Post a Comment

Previous Post Next Post