सभी जीव एक समान है सभी जीवों पर दया करो- मुनि आस्तिक्यज सागर महाराज

कटनी ।। आचार्य 108 विशुद्ध सागर महाराज के आशीर्वाद से मुनि श्री आस्तिक्य- सागर महाराज ससंघ का चातुर्मास जैन बोडिंग हाऊस कटनी में चल रहे। आज मुनि श्री आस्तिक्य  सागर महराज का प्रात: 06:30 सेकेट्र हार्ड सकेण्डारी स्कूशल कटनी में आगमन हुआ जहां पर मुनि श्री ने पंतजली योग संस्थाे कटनी के तत्वादधान में मुनि श्री द्वारा योग एवं ध्यानन शिविर का आयोजन एवं प्रवचन किये। मुनि श्री अपने प्रवचनों में कहां कि सभी जीवों का सम्माएन करना चाहियों। सभी जीव समान है चाहे तुम्ह्रा पड़ोसी है या मित्र हो सभी को एक भावना से देखों उससे इर्ष्याी मत करों । जैन धर्म एक चीटीं से हाथी तक के लिए दया भाव रखता है। यदि शत्रु को जीतना है तो उससे क्षमा मांगों। हमें किसी भी प्रकार की कषाय को जगह नहीं बनाने देना चाहिए क्योाकि कषाय पूरा जीवन नष्टं कर देना है। मुनि श्री अपने वचनों में कहा किसी की कुत्ता। नहीं कौआ बनों जैसे कुत्ताा अकेले में कौने में रोटी खाता है, वहीं कौआ काय-काय करता हुआ सारे लोगों को इकट्ठा करता है और मिल बांट कर खाता है उसी प्रकार हमें सभी सभी से मिलकर रहना चाहियें। उक्तम कार्यक्रम का संचालन दिनेश जैन एडवोकेट द्वारा किया गया। कार्यक्रम अधिक संख्यास में जैन के साथ अन्यश समाज के पुरूष एवं महिला वर्ग के लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम को सफल बनाने में श्री चन्द्र प्रभु ज्ञानोदय संगीत मंडल कटनी के अध्यकक्ष स.सि.अनिल कुमार जैन, अरविन्दु जैन, अंशुल जैन, राजीव जैन चुन्नुच भैया,नितिन जैन एवं अन्यअ सदस्यौ के साथ जैन समाज के अन्यउ लोग अनुराग जैन, निकुंज जैन, मनीष जैन, अमित, आदि उपस्थित थे।

Post a Comment

Previous Post Next Post