Katni News:पुरानी पेंशन की बहाली ही एकमात्र विकल्प

कटनी। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के नई पेंशन योजना को कर्मचारियों के हित में पुनः निर्धारण को सिरे से खारिज करते हुए भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस ) के नेताओं ने पुरानी पेंशन योजना की बहाली की मांग की है। कर्मचारी नेताओं ने कहा है कि ,पुरानी पेंशन स्कीम लागू करने के अलावा और किसी भी विकल्प का सवाल ही नहीं उठाता है। देश भर में नई पेंशन योजना के विरोध में व्याप्त भारी असंतोष के बीच बीएमएस से संबंध सरकारी कर्मचारी राष्ट्रीय परिषद के राष्ट्रीय आव्हान पर केंद्र और राज्य कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व कर रहे महासंघ और संबंद्ध यूनियनों के प्रतिनिधियों ने विगत 22 नवंबर को दिल्ली के जंतर मंतर में विरोध प्रदर्शन किया था ।* 

तत्संबंध में एक जानकारी में आयुध निर्माणी कटनी में भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ के राष्ट्रीय संगठन मंत्री राजेश तिवारी ने बताया कि, वित्त मंत्री को प्रदत्त ज्ञापन में पुरानी पेंशन स्कीम की बहाली के साथ यह स्पष्ट कर दिया गया है कि, जब तक नई पेंशन व्यवस्था को समाप्त नहीं किया जाता है तब तक कर्मचारियों के सभी महासंघ संघर्षरत ही रहेंगे ।कर्मचारी नेताओं ने बताया कि,1 जनवरी 2004 से पुरानी पेंशन स्कीम को समाप्त करके कंट्रीब्यूटरी पेंशन स्कीम लागू करते हुए नई पेंशन व्यवस्था का नाम दिया गया है ।श्री तिवारी ने कहा है कि, वित्त मंत्री से भेंट में कर्मचारियों के संघ से संबंध केंद्रीय नेतृत्व ने स्पष्ट किया है कि,बिना पुरानी पेंशन स्कीम बहाली के कर्मचारियों में व्याप्त असंतोष कम नहीं होने वाला है । उन्होंने कहा कि, नई पेंशन व्यवस्था बाजार आधारित पेंशन पर निर्भर होने के कारण इस स्कीम में न्यूनतम पेंशन मिल पाने की भी गारंटी नहीं है। इस प्रकार बुढ़ापे में सामाजिक सुरक्षा के नाम पर मिलने वाली पेंशन से वंचित देश भर के सभी केंद्र राज्य शासन के कर्मचारी सरकार से पुरानी पेंशन की लगातार मांग कर रहे हैं। कटनी निर्माणी से श्री तिवारी के साथ गए प्रतिनिधि मंडल में संघ के कटनी के पदाधिकारीयों मेंविजय शंकर राम, शिवाजी प्रताप,अजय प्रताप सिंह बघेल ,मनोज निगम ,अंशुल तिवारी ,राम जी सेंगर ,आदि सैकड़ो केंद्रीय कर्मचारियों की उपस्थिति रही।

Post a Comment

Previous Post Next Post